Saturday , 17 November 2018

पन्त ने किया अखिल भारतीय संस्कृत शोध सम्मेलन का उद्घाटन

Home / don't Miss / पन्त ने किया अखिल भारतीय संस्कृत शोध सम्मेलन का उद्घाटन
b9af0ffa-eb7a-472d-a61a-f63b94270297

हरिद्वार- वित्त मंत्री श्री प्रकाश पंत  उत्तराखण्ड संस्कृत अकादमी, हरिद्वार में आयोजित अखिल भारतीय संस्कृत शोध सम्मेलन का उद्घाटन किया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलित कर की। अखिल भारतीय संस्कृत शोध सम्मेलन के इस आयोजन का विषय अति महत्वपूर्ण है वर्तमान काल मे उपनिषद वांगयमय की उपादेयता। भारतीय देशना की प्राणशक्ति उपनिषद वास्तव में हर काल मे अपनी उपयोगिता सिद्ध करते रहे है और मानव के भविष्य को उज्ज्वल बनाने में उपनिषद अति महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहेंगे।
द्विदिवसीय कार्यक्रम में विश्व के विभिन्न देशों से शोधार्थियों ने प्रतिभाग किया और संस्कृत भाषा की उपयोगिता पर अपने अपने शोध प्रस्तुत किये। मंत्री जी ने इस अवसर पर संस्कृत में सम्बोधन दिया और संस्कृत जी वैश्विक उपयोगिता पर प्रकाश डाला। भारत के अखण्ड ज्ञान भंडार उपनिषदों की उपयोगिता समय के साथ और बढ़ी है और विश्व इस ओर आकर्षित हुए है। नासा में संस्कृत भाषा पर हो रहे शोध पर भी प्रकाश डाला और आने वाले समय मे संस्कृत भाषा जा भविष्य उज्ज्वल है ऐसा वक्ताओं ने एक स्वर से माना है।

देवों की देव नगरी, उत्तराखंड इसका नाम है
प्रमाण देते इसको, वेद और पुराण हैं।
प्रातः सूर्य की किरणें, पड़ती पवित्र नदियों पर।
मंदिर पर होती आरती, गूंजती हर पर्वत पर।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *