Tuesday , 25 September 2018

टूट सकता है पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना

Home / 18+ / टूट सकता है पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना
Rahul-Modi-Akhilesh

वाराणसी. सपा और कांग्रेस का गठबंधन होने वाला है। वार्ता अंतिम चरण में चल रही है। ऐसे में सबकी निगाहे सोमवार को जौनपुर को पीआरपी इंटर कालेज में होने वाली राहुल गांधी की रैली पर टिकी हुई है। रैली के बहाने पूर्वांचल में कांग्रेस अपनी ताकत दिखायेगी। इसके अतिरिक्त सपा से गठबंधन को लेकर चल रही वार्ता पर भी राहुल गांधी खुलासा कर सकते हैं। राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर भ्रष्टाचार को लेकर कुछ आरोप लगाये थे जिसको लेकर भी राहुल गांधी खुलासा कर सकते हैं। देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में चुनाव जीतने के लिए सारी ताकत लगा रही कांग्रेस ने जमकर मेहनत की है लेकिन अंत में कांग्रेस को सपा के सामने समर्पण करना पड़ गया है। सपा भी मुस्लिम वोटों को छिटकने की आशंका से डरी हुई है। सीएम अखिलेश यादव अपने बल पर सत्ता वापसी की बात कहते थे लेकिन जमीनी हकीकत दिखने के बाद सीएम अखिलेश यादव ने कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लडऩे पर 300 से अधिक सीट जीतने का बयान देना शुरू कर दिया है। इससे साफ हो जाता है कि कांग्रेस व सपा में गठबंधन को लेकर किसी प्रकार की दिक्कत नहीं है बस इसकी अधिकारिक घोषणा होनी है जो राहुल गांधी जौनपुर की रैली में भी कर सकते हैं।
पीएम नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस मुक्त भारत का जो सपना देखा है वह टूट सकता है। कांग्रेस का दावा है कि राहुल गांधी की रैली में लाखों की भीड़ उमड़ेगी। नोटबंदी के बाद लोगों में जो नाराजगी है उसे भुनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस को भीड़ से राहत मिल सकती है। फिलहाल सबकी निगाहे राहुल गांधी की रैली पर टिकी हुई है जिसमे वह कई खुलासा कर सकते हैं।

कितने दिन चलेगा कांग्रेस व सपा का संभावित गठबंधन

राजनीतिक जगत में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि सपा और कांग्रेस का होने वाला संभावित गठबंधन कितने दिन चलेगा। यूपी में दोनों दलों में गठबंधन होता है तो वर्ष 2019 के पहले यह गठबंधन टूट भी सकता है। सीएम अखिलेश यादव ने पहले ही सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को बतौर पीएम प्रोजेक्ट किया हुआ है, जबकि कांग्रेस किसी भी हाल में राहुल गांधी के अलावा अन्य किसी गठबंधन के नेता को पीएम घोषित नहीं कर सकती है। ऐसे में बिहार व यूपी में कांग्रेस के गठबंधन को लेकर समस्या हो सकती है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार व राजद के लालूू यादव के साथ कांग्रेस का गठबंधन है। दोनों ही नेता खुद को पीएम की रेस में शामिल मानते है और यूपी में मुलायम सिंह यादव भी इस रेस में शामिल है। फिलहाल गठबंधन की दिशा तो भविष्य की राजनीति ही तय करेगी, लेकिन इतना जरूर है कि राहुल गांधी सभा यूपी की नये राजनीतिक समीकरणों की दिशा तय करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *